×
userImage
Hello
 Home
 Dashboard
 Upload News
 My News
 All Category

 News Terms & Condition
 News Copyright Policy
 Privacy Policy
 Cookies Policy
 Login
 Signup
 Home All Category
Wednesday, Jul 24, 2024,

Rashtra Ke Ratna / Social Thinker / India / Jharkhand / Hazāribāgh
बिरसा मुंडा 25 साल की उम्र में बन गए 'भगवान'

By  Agcnnnews Team /
Sun/Jun 09, 2024, 04:26 AM - IST -140

  • पूर्व मुख्यमंत्री श्री कृष्ण बल्लभ सहाय जी के पौत्र कांग्रेस नेता श्री आशीष सहाय जी की ओर से क्रांतिकारी भगवान बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि पर उन्हें शत-शत नमन एवं विनम्र श्रद्धांजलि।
  • बिरसा मुंडा 25 साल की उम्र में बन गए' भगवान' जब भारतीय जमींदारों और जागीरदारों और ब्रिटिश शासकों के शोषण की भट्टी में आदिवासी समाज झुलस रहा था।
Hazāribāgh/

हजारीबाग/बिरसा मुंडा 25 साल की उम्र में बन गए' भगवान' जब भारतीय जमींदारों और जागीरदारों और ब्रिटिश शासकों के शोषण की भट्टी में आदिवासी समाज झुलस रहा था, तब बिरसा मुंडा ने अत्याचारियों के खिलाफ संघर्ष कर मुंडाओं आदिवासियों को उनके जंगल-जमीन वापस कराए। मुंडा जनजाति के एक निडर शख्सियत, बिरसा मुंडा ने बंगाल, बिहार और झारखंड की सीमा से लगे क्षेत्रों में अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह का नेतृत्व किया था। 

सन 1895 में बिरसा मुंडा ने अंग्रेजों की लागू की गई जमींदार प्रथा और राजस्व व्यवस्था के साथ जंगल-जमीन की लड़ाई छेड़ दी। उन्होंने सूदखोर महाजनों के खिलाफ भी जंग का ऐलान किया. बता दें कि, यह एक विद्रोह ही नहीं था बल्कि सम्मान और संस्कृति को बचाने की लड़ाई भी थी, कहते हैं कि, बिरसा मुंडा ने अंग्रेजों के खिलाफ हथियार इसलिए उठाया क्योंकि आदिवासियों का शोषण हो रहा था।

एक तरफ अभाव व गरीबी थी तो दूसरी तरफ इंडियन फॉरेस्ट एक्ट 1882 जिसके कारण जंगल के दावेदार ही जंगल से बेदखल किए जा रहे थे। बिरसा मुंडा ने इसके लिए सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक तौर पर विरोध शुरु किया और छापेमार लड़ाई की कम उम्र में ही बिरसा मुंडा की अंग्रेजों के खिलाफ जंग छिड़ गई थी, लेकिन एक लंबी लड़ाई 1897 से 1900 के बीच लड़ी गई, इसके बाद 3 फरवरी 1900 के चक्रधरपुर के जमकोपाई जंगल से अंग्रेजों ने बिरसा मुंडा को गिरफ्चार कर लिया, जिसके बाद 9 जून 1900 को 25 साल की उम्र में बिरसा मुंडा की रांची जेल में मौत हो गई।

पूर्व मुख्यमंत्री श्री कृष्ण बल्लभ सहाय जी के पौत्र कांग्रेस नेता श्री आशीष सहाय जी की ओर से क्रांतिकारी भगवान बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि पर उन्हें शत-शत नमन एवं विनम्र श्रद्धांजलि।

(पंचम कुमार पासवान) 
      (हजारीबाग)

By continuing to use this website, you agree to our cookie policy. Learn more Ok